ऊंगलियां झुलस गयी ज़ो पोछा तेरी आँखों का पानी,

ऊंगलियां झुलस गयी ज़ो पोछा तेरी आँखों का पानी,

ऐसे खुदगर्ज निकले तेरे आंशू भी तेरी नीयत की तरह.

-आनन्द

Please follow and like us:

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *