ठुकराया हमने भी बहुतों को हैं तेरी खातिर

ठुकराया हमने भी बहुतों को हैं तेरी खातिर,

तुझ से फासला भी शायद उन की बद-दुआओं का असर हैं…

Please follow and like us:

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *