न्याय अदालत के मत्थे ही रहने दो।

भीड़ न्याय नही करती सिर्फ प्रतिशोध लेती है।

इसलिए न्याय अदालत के मत्थे ही रहने दो।

Please follow and like us:

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *