Posted in Editorial

राष्ट्रपति शासन या बंगाल विभाजन? क्या है मोदी का प्लान?

पश्चिम बंगाल के चुनाव अभी खत्म ही हुए थे, बंगाल अपने पूर्ववर्ती स्वभाव के अनुरूप एकाएक हिंसक हो उठा। सत्ता की हनक ने एक लोकतांत्रिक…

Continue Reading... राष्ट्रपति शासन या बंगाल विभाजन? क्या है मोदी का प्लान?
Posted in Editorial

CAA आन्दोलन 2019 V/S किसान आन्दोलन 2020

पिछले साल CAA के नाम पर दिल्ली शहर की कुछ सड़के रोकी गयी थी, सरकार समझाती रही कि यह कानून नागरिकता लेने का नही बल्कि…

Continue Reading... CAA आन्दोलन 2019 V/S किसान आन्दोलन 2020
Posted in Editorial

औद्योगिक घरानों के दरवाजों पर क्यों खड़ी रहती हैं देश की सरकारें?

दुनिया भर में पूंजीवाद को अपना धर्म मानने वाले देशो से लेकर समाजवाद और साम्यवाद की बुनियाद खड़े देश तक उद्योग को अपने अपने शीर्ष…

Continue Reading... औद्योगिक घरानों के दरवाजों पर क्यों खड़ी रहती हैं देश की सरकारें?
Posted in Editorial

भरतीय अर्थव्यवस्था के मूल संरचना

2006 में आया छठा वेतन आयोग में अचानक कई गुना बढ़ा सरकारी वेतन, भरतीय अर्थव्यवस्था के मूल संरचना को पटरी से उतार दिया था। हालांकि…

Continue Reading... भरतीय अर्थव्यवस्था के मूल संरचना
Posted in Editorial

कबूतर के आँख बंद कर लेने से बिल्ली भाग नही जाएगी

एक कहावत है कि कबूतर के आँख बंद कर लेने से बिल्ली भाग नही जाएगी। हाल ही में यही हाल भारत का है और उसमे…

Continue Reading... कबूतर के आँख बंद कर लेने से बिल्ली भाग नही जाएगी
Posted in Editorial

देश की सुरक्षा और विकास के लिए टैक्स के पैसे को राजनीतिक फायदे के लिए मुफ्त में बाँटना मुश्किल नही है

विरोधी पार्टियां राजनीतिक लाभ के लिए आज के युवाओं में जिस तरह भारत विरोधी और लालच के बीज आरोपित कर रहे है इससे उन्हें चुनावी…

Continue Reading... देश की सुरक्षा और विकास के लिए टैक्स के पैसे को राजनीतिक फायदे के लिए मुफ्त में बाँटना मुश्किल नही है
Posted in Editorial

अगर आप किसान नही है तो किसान को समझना आपके बस की बात नही है।

अगर आप किसान नही है तो किसान को समझना आपके बस की बात नही है। अपनी 33 साल की उम्र में अभी 2 दिन पहले…

Continue Reading... अगर आप किसान नही है तो किसान को समझना आपके बस की बात नही है।
Posted in Editorial

एक सियार की खाल से जब रंग उतरता है तो वह कितना डरावना लगता है।

केजरीवाल के फ्री बिजली पर हुहदंग मचाने वाले जागरूक नागरिको में से क्या कोई जानता है कि हसन निसार कौन है? अगर नही तो अपने…

Continue Reading... एक सियार की खाल से जब रंग उतरता है तो वह कितना डरावना लगता है।
Posted in Editorial

सरकारी सिस्टम के भ्रष्टाचार पर रोता हुआ वह छात्र

एक बार एक नेता ने चुनाव से पहले घोषणा की कि चुनाव जीतने पर वह लोगो को मुफ्त में चश्मे देगा। फिर क्या था… पूरे…

Continue Reading... सरकारी सिस्टम के भ्रष्टाचार पर रोता हुआ वह छात्र
Posted in Editorial

कल रात जब दिल्ली के एक बड़े tv पत्रकार का मेरे पास फोन आया

कल रात लगभग 11.35 पर दिल्ली के एक बड़े tv पत्रकार का मेरे पास फोन आया, और फ़ोन उठाते ही भड़क उठे, बोले “आनंद जी…

Continue Reading... कल रात जब दिल्ली के एक बड़े tv पत्रकार का मेरे पास फोन आया